अफगानिस्तान के काबुल में 10 हफ्ते चली खुदा गवाह’ – बॉलीवुड से खास लगाव

बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन की 1992 की फिल्म ‘खुदा गवाह’ का एक बड़ा हिस्सा भी अफगानिस्तान में शूट किया गया था। फिल्म में अमिताभ के किरदार बादशाह खान, श्रीदेवी के बेनजीर और डैनी के रोल को खुदा बख्श अफगानी के रूप में दिखाया गया था। इस फिल्म की ज्यादातर शूटिंग अफगान शहरों मजार-ए-शरीफ, कंधार, काबुल और उनके आसपास के इलाकों में की गई है। इस फिल्म ने अमिताभ बच्चन और श्रीदेवी को अफगानिस्तान में और अधिक लोकप्रिय बना दिया। अफगानिस्तान के ज्यादातर लोग आज भी अमिताभ बच्चन को पहचानते हैं।

अफगानिस्तान में इस फिल्म की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ‘खुदा गवाह’ काबुल के सिनेमाघरों में 10 हफ्ते तक हाउसफुल चली।सोवियत सेना की वापसी के बाद 1987 में नजीबुल्लाह अहमदजई अफगानिस्तान के राष्ट्रपति बने। नजीबुल्लाह को बॉलीवुड फिल्मों का बहुत शौक था। उन्होंने खुद अमिताभ बच्चन को फोन किया था और वीवीआईपी की तरह उन्हें स्टेट गेस्ट हाउस में रुकवाया था। वहां अमिताभ बच्चन को खुले दिल से प्यार मिला था। अमिताभ ने एक बार बताया था कि कैसे उनका और डैनी का वहां कंधों पर उठाकर स्वागत किया गया।

इसके पहले भी साल फिरोज खान ने अपनी फिल्म धर्मात्मा की शूटिंग भी अफगानिस्तान में की थी  उनके साथ हेमा मालिनी का एक अफगानी बंजारन का रोल था साथ में  डैनी मदन पूरी से अन्य कलाकार थे ।

दोनों ही फिल्म में अफगानी खेल बुजकशी को भी दिखाया गया जो घोड़ो पर खेला जाता है

अफगानिस्तान में शूट की गई आखिरी फिल्म  ‘काबुल एक्सप्रेस’  थी जो निर्देशित की थी कबीर खान ने  जॉन एवं अरशद वारसी का साथ

अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र, हेमा मालिनी और श्रीदेवी के बाद शाहरुख खान, सलमान खान और आमिर खान भी अफगानिस्तान में काफी लोकप्रिय हो गए। आज भी अफगानिस्तान में ज्यादातर लोगों ने बॉलीवुड फिल्में देखकर हिंदी सीखी है।

 

 

 

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *